Lawyer Black Coat में क्यों रहते हैं। हिंदी में जाने


आप सभी यह सोचते होंगे कि वकील Black coat क्यों पहनते हैं, आप सभी ने जब भी वकील को देखा होगा तो वह हमेशा काले कोट में ही मिलते हैं, अगर आप जानना चाहते हैं, कि वकील काला कोट क्यों पहनते हैं तो आज के आर्टिकल में हम आपको यह बताएंगे कि वकील हमेशा काले कोट में ही केस क्यों लड़ते हैं, अगर वह चाहे तो किसी और ड्रेस में भी केस लड़ सकते हैं लेकिन वह काले कोट में ही केस क्यों लड़ते हैं।

बहुत समय से ही वकील काले कोट में ही केस लड़ते हैं, आपने अक्सर टीवी में भी यह देखा होगा तो अब हम आपको बताएंगे कि वकील काला कोट क्यों पहनते हैं।

वकील Black coat क्यों पहनते हैं

आइए आपको बताते हैं वकील Black Coat क्यों पहनते हैं, क्या आप जानते हैं की वकालत की शुरुआत सन 1327 में Edward Tritiya  ने की थी इसीलिए न्यायाधीशों के लिए वीशेश वेशभूषाऐ तैयार की गई थी, लेकिन ऐसा शुरुआत में कुछ नहीं था पहले एडवोकेट की वेशभूषा काले रंग की नहीं थी इसके बाद वकील की वेशभूषा में जो बदलाव आया, वह  सन 1600 के बाद आया। और फिर 1637 में एक प्रस्ताव रखा गया जिसमें वकीलों को जनता से अलग दिखने के लिए वकीलों को काला कोट पहनने को कहा गया।

इसके बाद साल 1694 मैं क्वीन मैरी की बीमारी के चलते मृत्यु हुई थी, सब उनके पति ने सभी न्यायाधीशों को शोक मनाने के लिए काले रंग के कपड़े पहनने का आदेश दिया तभी से वकील आज तक काले रंग के कोट पहनते हैं।

क्या आप जानते हैं कि साल 1961 में भारत में एडवोकेट से जुड़े कुछ नियम बनाए गए जिसमें वकीलों को काला कोट पहनना अनिवार्य कर दिया गया था, और इसके बाद से भारत के सभी वकील काला कोट पहनकर ही केस लड़ते हैं, और यह ड्रेस वकीलों को एक अलग पहचान दिलाती है, इसे पहनकर वह सबसे अलग ही दिखते हैं।

तो इतना तो आप जान गए कि भारत में 2 साल 1961 को यह नियम बनाए गए थे, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि विदेश में इसका इतिहास काफी पुराना है, आइए आपको बताते हैं, कि जब इंग्लैंड के किंग चार्ल्स की मृत्यु हुई थी तब उनकी मृत्यु में शोक मनाने के लिए सभी वकील काले कोट पहन कर गए थे इसके बाद से विदेश में भी सभी एडवोकेट के लिए काला कोट पहनना अनिवार्य कर दिया गया।

क्या आप यह जानते हैं कि काले रंग को ताकत और अधिकार का प्रतीक माना जाता है, और इंग्लैंड में तो काले रंग को प्रोफेशन के लिए भी काफी लोकप्रिय माना गया है, तो इसीलिए वकील काले रंग का कोट पहनते हैं।

कहते हैं कि काला रंग गर्मी को कम करता है, इसलिए कालाकोट वकील के शरीर से निकलने वाले गर्मी को रोकने में भी मदद करता है, कालिकोट को पहनने से एडवोकेट में गर्मी सहन करने की शक्ति भी बढ़ती है।

और इतना तो आपको पता होगा कि काले रंग को दृष्टिहीन ता का प्रतीक भी माना गया है, इसलिए कानून को अंधा कानून माना जाता है, क्योंकि दृष्टिहीन व्यक्ति को कभी किसी बात का प्रस्ताव नहीं होता इसीलिए वकील काला कोट पहनते हैं। जिससे कि वह भी दृष्टिहीन व्यक्ति की तरह है बिना किसी पश्चाताप किए सच्चाई के साथ अपना केस लड़ सके।

तो आज आप जान गए होंगे कि वकील काला कोट क्यों पहनते हैं, आज हमने आपको इसका सारा इतिहास बता दिया और आपको इसके बारे में सारी जानकारी दी कि वकील काला कोट क्यों पहनते हैं, हमने आपको इसके बहुत से कारण भी बताए हैं।

आशा करते हैं हमारे आर्टिकल आपको पसंद आया और आप जान गए होंगे अब की वकील हमेशा काले कोट में क्यों रहते हैं, अगर आप ही है जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी बांटना चाहते हैं, तो हमारे आर्टिकल को शेयर करें।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.